Who We Are » INTRODUCTION


परिचय


दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा छत्तीसगढ़ राज्य का अतिसंवेदनाील एवं नक्सल ग्रस्त जिला होने के कारण यहां के  पिछडे़ जनजातीय जीवन को सुधारना एवं इनमें सामाजिक विकास करा पाना अभी भी मील का पत्थर बना है । यहां की शिक्षा  स्तर अत्यंत ही निम्न है एवं आदिवासी बाहूल्य जिला है। परिणाम स्वरूप इन क्षेत्रों में विकलांगता का ग्राफ भी राज्य के आंकड़ों में भी ज्यादा है। जिन्हें दूर करने शासन, प्रशासन एवं विभिन्न स्वयं सेवी संगठनों द्वारा इनके आवष्यकता अनुरूप लाभ पहुचाने के उद्देय से अनेकानेक योजनाओं एवं प्रकल्पों के माध्यम से जनजीवन को उपर उठाने का सार्थक प्रयास पिछले कुछ वर्षोें से किया जा रहा है ।
‘‘सक्षम’’ इन्ही प्रयासों का एक आदर्ष उदाहरण है, जो कि जिले के गीदम विकासखंड अंर्तगत एजूकेशन सिटी जावंगा में है । इस संस्था को दिव्यांग बच्चों की विषमताओं को ध्यान में रखते हुए विश्वस्तरीय सर्वसुविधायुक्त आवासीय परिसर के रूप में बनाया गया है। यहां इन बच्चों को उच्च स्तरीय भोजन, आवास, विशेष शिक्षा , स्पीचथेैरेपी, आक्यूपेषनल थैरेपी, फिजियोथैरेपी, आॅडियोलाॅजी तथा समावेषी शाला आवागमन के लिए वाहन की सुविधा है । इनके अलावा जिले के अन्य दिव्यांगजनो के लिए ओपीडी भी दी जाती है ।