What We Do » AVAILABLE FACILITIES


पूर्ण दृष्टिहीन एवं अल्प दृष्टि वाले बच्चों के लिए उपलब्ध सुविधाऐं:-
1.    पूर्णतः बाधारहित आवासीय परिसर एवं शिक्षण कक्ष ।
2.     पंजीकृत विशेष शिक्षकों द्वारा शिक्षण ।
3.    प्रत्येक बच्चें के लिए ब्रेल कीट की उपलब्धता ।
4.    अनुदेशक एवं केयरटेकर द्वारा ज्ञानेन्द्रीय प्रशिक्षण,दैनिक क्रिया कोैषल, अनुस्थिति एवं चलिष्णुता, का नियमित प्रशिक्षण ।
5.    समावेषी शाला की सुविधा ।
6.    उच्च कक्षा में अध्ययनरत बच्चों को अत्याधुनिक उपकरण की उपलब्धता जैसे - ब्रेल टाईपराइटर, जाॅस साफ्टवेयर से कम्प्युटर प्रशिक्षण  ।
7.    ब्रेल लाईब्रेरी ।
8.    केन टेक्नीक अभ्यास ।
9.    खेल एवं मनोरंजन - पज्जल, सतरंज, फ्लेसकार्ड, साउन्ड बाॅल  इत्यादि मनोंरंजक संसाधनों की उपलब्धता एवं खेल शिक्षक द्वारा प्रतिदिवस सामूहिक खेल अभ्यास ।
10.    प्रशिक्षित संगीत शिक्षक द्वारा गायन एवं वादन की शिक्षा ।


.    श्रवण बाधित व मूक बाधित वाले बच्चों के लिए उपलब्ध सुविधाऐं:-
      1.पूर्णतः बाधारहित आवासीय परिसर एवं शिक्षण कक्ष ।
      2. पंजीकृत विशेष शिक्षकों द्वारा शिक्षण ।
      3.स्पीच थैरेपिस्ट एवं आॅडियोलाजिस्ट की नियुक्ति ।
      4.दैनिक थैरेपी की सुविधा ।
      5.अनुदशक एवं केयरटेकर द्वारा दैनिक क्रिया कौशल प्रशिक्षण ।
      6.समावेाषी शाला की सुविधा ।
      7.उच्च कक्षा में अध्ययनरत बच्चों को अत्याधुनिक उपकरण  श्रवण यंत्र ( हियरींग एड )की उपलब्धता ।
      8.खेल एवं मनोरंजन-खेल, शिक्षक द्वारा प्रतिदिवस सामूहिक खेल अभ्यास ।
9.    प्रशिक्षित संगीत शिक्षक द्वारा गायन एवं वादन की शिक्षा ।
  

अस्थि बाधित वाले बच्चों के लिए उपलब्ध सुविधाऐं:-
1.    अत्याधुनिक व्हील चेयर, बैसाखी की उपलब्धता ।
2.    फिजियोथैरेपी एवं आक्यूपेशनल थैरेपी की सुविधा ।
3.    पंजीकृत विशेष शिक्षकों द्वारा शिक्षण ।
4.    अनुदेशक एव केयरटेकर द्वारा दैनिक क्रिया कोैशल प्रशिक्षण ।
5.    समावेषी शाला की सुविधा ।
6.    खेल एवं मनोरंजन-खेल शिक्षक द्वारा प्रतिदिवस सामूहिक खेल अभ्यास ।
7.    प्रशिक्षित संगीत शिक्षक द्वारा गायन एवं वादन शिक्षण की सुविधा ।

       मानसिक मंदता  वाले बच्चों के लिए उपलब्ध सुविधाऐं:-
1.    पंजीकृत विशेष शिक्षक द्वारा शिक्षण सुविधा ।
          2. अनुदेशक एवं केयरटेकर द्वारा ज्ञानेन्द्रीय प्रशिक्षण,  दैनिक क्रिया कोैशल एवं दिनचर्या का नियमित प्रशिक्षण ।
          3.समावेषी शाला की सुविधा ।
          4. एम.आर. कीट के माध्यम से बच्चे को खेलक्रियाविधी एवं निरंतर अभ्यास विधी से शिक्षण प्रशिक्षण देना ।